CoronaVirus Updates | Confirmed Cases and Deaths | COVID-19 Symptom Checker (Click Here)
  Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   News   Jobs   Blog

शकरकंद आपको रखे सेहतमंद

KayaWell Icon

शकरकंद आपको रखे सेहतमंद
शकरकंद के फायदे
By Research Staff
Common Cold
Heart Disease
Leukorrhea (Vaginal Discharge)

शकरकंद या स्वीट पोटैटो का सेवन सर्दियों में लाभदायक होता है. सर्दियों में कंद-मूल अधिक फायदेमंद रहते हैं, क्योंकि ये शरीर को गर्म रखते हैं. शकरकंद की गहरे रंग की प्रजाति में कैरोटिनॉयड जैसे, बीटा-कैरोटीन और विटामिन ए अधिक मात्रा में पाया जाता है. 100 ग्राम शकरकंद में 400 फीसदी से अधिक विटामिन ए पाया जाता है.

एंटी ऑक्‍सीडेंट
शकरकंद ऐसे खाद्य पदार्थों में से एक जिसमें कैलोरी और स्टार्च औसत मात्रा में होता है। शकरकंद में सैचुरेटेड फैट और कोलेस्‍ट्रॉल बिल्‍कुल भी नहीं होता है और यह आहार फाइबर, एंटी ऑक्‍सीडेंट, विटामिन और मिनरल का समृद्ध स्रोत है।
प्रदर रोग (ल्‍यूकोरिया)
शकरकन्‍द प्रदर रोग में लाभकारी होता है। प्रदर रोग होने पर शकरकन्‍द को जिमीकन्‍द में बराबर मात्रा में लेकर छाया में सुखाकर और पीसकर बारीक चूर्ण बना लें। इसके 5-6 ग्राम चूर्ण को ताजे पानी और शहद में मिलाकर सेवन करने से लाभ होता है।
दिल की बीमारियां
शकरकंद में विटामिन बी-6 भरपूर मात्रा में होता है जो होमोसिस्टीन केमिकल के स्‍तर को कम करने में मदद करता है जिससे दिल स्वस्थ् रहता है। होमोसिस्‍टीन एक प्रकार का अमीनो एसिड है जिसकी अधिकता से हृदय रोग की संभावना बढ़ सकती है।
विटामिन डी से भरपूर
विटामिन डी थायरॉयड ग्रंथि, दांत, हड्डियों, नसों और त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए बहुत आवश्यक होता है। शकरकंद में विटामिन डी प्रचुर मात्रा में होता है, इसलिए यह शरीर के पोषण के लिए अच्छा होता है।
प्रतिरक्षण बढ़ाता है
आयरन शरीर में एनर्जी के स्‍तर को बनाए रखने में मदद करता है और शकरकन्‍द में आयरन भरपूर मात्रा में होता है इसलिए यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा, शकरकन्‍द सफेद और लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में सुधार करता है।
रक्त शर्करा में स्थिरता
शकरकन्‍द में मौजूद कैरोटीनॉयड नामक तत्‍व रक्त शर्करा को कम करने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन बी -6 डायबिटिक हार्ट डिजीज को कम करने में मदद करता है।
श्वास संबंधी रोग
नियमित रूप से एक शकरकन्‍द का सेवन शरीर के लिए विटामिन ए की जरूरत का 90 प्रतिशत पूरा करता है। विटामिन ए फेफड़ों के रोग जैसे वातस्फीति के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
पेट के अल्सर का इलाज
अगर आप पेट के अल्‍सर से पीड़‍ित हैं तो आप जितनी जल्‍दी हो सके अपने आहार मे शकरकन्‍द को श‍ामिल करें। इसमें मौजूद विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, विटामिन बी, पोटेशियम और कैल्शियम अल्सर की आशंका को कम करता है।
दिल की धड़कन को नियंत्रित
पोटेशियम से समृद्ध शकरकन्‍द दिल की धड़कन और तंत्रिका संकेतों को नियंत्रित करने में सहायक होता है। साथ ही पोटेशियम किडनी के कार्यों को नियंत्रित करने, सूजन को करने और मांसपेशियों में ऐंठन को समाप्त करने में भी मदद करता हैं।
खाली पेट शकरकंद खाना नुकसान पहुंचा सकता है. इसमें मौजूद पैक्टीन और टैन्नीन पेट में गैस्ट्रिक एसिड की परेशानी कर सकती है. जिस वजह से पेट में दर्द और सीने में जलन तक हो सकती है. फिर भी यदि खाना हो तो दूध के साथ लें.
http://www.onlymyhealth.com
https://www.prabhatkhabar.com
Common Cold
Heart Disease
Leukorrhea (Vaginal Discharge)

Comments