Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

ये 3 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां से, दांतो में दर्द, सड़न और पीलेपन से मिलता है फायदा

KayaWell Icon

केमिकल युक्‍त टूथपेस्‍ट या फिर गलत खानपान की वजह से दांतों में सड़न, दर्द के अलावा तमाम तरह की समस्‍या हो जाती है। दांतों को इस खतरे से बचाने के लिए आपको कुछ प्राकृतिक नुस्खों को आजमाना चाहिए। ये नुस्खे न सिर्फ आपके दांतो को चमकदार बनाते हैं बल्कि यह कई तरह की दांत संबंधी गंभीर समस्याओं से निजात दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। नीम, बबूल और तुलसी ऐसे ही कुछ सुलभ हर्बल नुस्खे हैं। आज हम इन तीनों के दांतों को लेकर होने वाले लाभ के बारे में चर्चा करेंगे।


केमिकल युक्‍त टूथपेस्‍ट या फिर गलत खानपान की वजह से दांतों में सड़न, दर्द के अलावा तमाम तरह की समस्‍या हो जाती है। दांतों को इस खतरे से बचाने के लिए आपको कुछ प्राकृतिक नुस्खों को आजमाना चाहिए। ये नुस्खे न सिर्फ आपके दांतो को चमकदार बनाते हैं बल्कि यह कई तरह की दांत संबंधी गंभीर समस्याओं से निजात दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। नीम, बबूल और तुलसी ऐसे ही कुछ सुलभ हर्बल नुस्खे हैं। आज हम इन तीनों के दांतों को लेकर होने वाले लाभ के बारे में चर्चा करेंगे।


तुलसी

1: दांतों के लिए तुलसी के अनेक फायदे हैं। अगर आपके दांतों में पीलापन है तो तुलसी के पत्तों को धूप में सुखाकर पाउडर बना लें। 

2: इसके पाउडर को टूथपेस्ट में मिलाकर ब्रश करने से दांतों में चमक आ जाती है। 

3: इसके अलावा संतरे के छिलके और तुलसी के पत्तों को सुखाकर पाउडर बना लें। 

4: रोजाना ब्रश करने के बाद इस पाउडर से दांतों की मसाज करें। इससे दांतों का पीलापन दूर हो जाएगा।


नीम

1: नीम की पत्तियां जहां संक्रमणरोधी होती हैं वहीं नीम के दातुन दांतो के लिए एक वरदान की तरह होते हैं। 

2: दांतों में किसी भी प्रकार की तकलीफ हो नीम के दातुन के पास उन सबका इलाज मौजूद होता है। 

3: मुंह की दुर्गंध भी आजकल लोगों की एक अहम समस्या है। दांतों पर तथा मुंह में मौजूद तमाम तरह के बैक्टीरिया ही मुंह की बदबू के सबसे बड़े कारक होते हैं। ऐसे में नीम का दातुन इन सभी बैक्टीरिया को खत्म करने में काफी लाभकारी होता है। 

4: नीम के दातुन से दांत काफी मजबूत होते हैं। साथ ही साथ उनमें कोई भी रोग लगने की संभावना लगभग खत्म हो जाती है।


बबूल

1: अगर आपके मसूढ़ों से खून आता हो तो बबूल की छाल का काढ़ा बनाएं और उससे रोज तीन बार कुल्ला करें। यह अक्सर दांतों में कीड़े लग जाने की वजह से होता है।

2: अगर आपके दांत सड़ रहे हैं तो बबूल की छाल के काढ़े से कुल्ला करें।

3: बबूल की छाल, उसकी पत्ती, फूल और फलियों की बराबर मात्रा लेकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण से रोजाना मंजन करने से दांतो के सभी रोग दूर हो जाते हैं।

Comments