Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

कालमेघ के पौधे से शरीर को मिलते हैं कई फायदे

KayaWell Icon

कालमेघ जंगलों में मिलने वाला औषधीय पौधा है। यह पौधा वर्षा ऋतु में काफी मात्रा में पाया जाता है। यह पौधा एक से दो फुट ऊंचा होता है और उसके फूल छोटे और हल्के नीले रंग के होते है। इसके पत्तों में सुंगधित तेल होता है जो मलेरिया, विभिन्न प्रकार के चर्म रोग, जॉन्डिस और अन्य लीवर जैसे रोगों काे दूर करने में किया जाता है।

कालमेघ के फायदे

1.घाव 

कालमेघ घाव और फोड़े-फुंसी को भी दूर करता है। इसके लिए कालमेघ को पानी में उबाल कर उस पानी से घाव को साफ करने पर घाव जल्दी ठीक होता है।

2.गैस व एसिडिटी

गैस व एसिडिटी में इसके पत्तों का रस पानी में मिला कर पीने से फायदा होता है।  

3. मलेरिया

मलेरिया में कालमेघ का प्रयोग काली मिर्च के साथ किया जाता है। यह मलेरिया के वक्त नष्ट हुए सैल को भी ठीक करता है।

4.खून साफ

इसके पत्तों को साफ करके पानी में उबालें। फिर उन्हें छान कर रोज एक गिलास पीएं। इससे खून साफ होगा।

5.पेट के कीड़े 

बच्चों के पेट के कीड़े को मारने में भी यह फायदेमंद है।  इसके लिए 1/2 चम्मच कालमेघ के पत्तों के रस में 2 चम्मच कच्ची हल्दी और चीनी मिलकार पीएं।

6. बुखार 

बुखार में इस 1-2 चम्मच इस रस का सेवन करने से फायदा होता है। दिन में 3 बार लेने से शरीर का तापमान कम हो जाता है।

Acidity
Fever
Gas
Minor Wounds
Malaria

Comments