Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

मोटापे की अचूक प्राकृतिक चिकित्सा

KayaWell Icon

मोटापे से होने वाले संभावित रोग
हार्ट अटैक, घुटनों का दर्द, डाईबिटिज, लिवर का रोग, गुर्दे की बीमारी आदि।

मोटापे का कारण:-

आनुवांशिक कारण, आवश्यकता से ज्यादा भोजन करना, भोजन में कार्बोहाइड्रेट की ज्यादा मात्रा ग्रहण करना,  शारीरिक श्रम नहीं करना, दवाईयों के दुष्प्रभाव, हाईपोथायोराईड स्त्रियों में पी.सी.ओ.डी.

मोटापे की श्रेणी :-
सामान्य बीएमआई 18.5 किलोग्रामसे लेकर 24.9 किलोग्राम / वर्ग मीटर होती है. अगर किसी व्यक्ति की बीएमआई इससे अधिक होती है, वो  आवरवेट की श्रेणी में आता है।


महात्मा गांधी मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल के नैयूरोपैथी विभाग में मोटापे का बिना किसी दवाई के तथा बिना किसी साईड इफेक्ट के  10-15 दिन में सफल उपचार किया जाता है। यहां पर आउट डोर के अलावा मरीज को भर्ती करके भी उपचार की सुविधा दी जाती है।

मोटापे के लिए जो दवाई प्राथमिक चिकित्सा



स्टीम बाथ :-
इससे अतिरिक्त जमा चर्बी पिघल कर पसीने के द्वारा बाहर निकलती है।

मिट्टी-पट्टी :-
चर्बी को पिघलने के बाद जो विषैले पदार्थ शरीर में बनते है, मिट्टी उसको अपने अन्दर सोक लेती है।

जल चिकित्सा :-
इसमें रूके हुए विषैले पदार्थ अपनी जगह से चलायमान होकर नजदीक मार्ग से बाहर निकल जाते है।

रंग चिकित्सा :-
इस प्रकार की चिकित्सा से चर्बी कम होने से त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियां नहीं पड़ती तथा मानसिक शान्ति मिलती है।

इनके अलावा जो सहायक चिकित्सा की गई है, इसके कैलोरी बर्न की गई तथा भरपूर प्रोटीन व उपर्युक्त कैलोरी युक्त भोजन करने का सुझाव दिया गया।

Comments

Related Wellness Packages

KayaWell Icon