Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

एकाग्रता और आत्मविश्वास बढ़ाते हैं ये आसन

KayaWell Icon

Memory Improvement
Men's Health
Bone Density

युवाओं के लिए एकाग्रता और आत्मविश्वास बहुत जरूरी हैं क्योंकि जीवन में सफलता के लिए ये दोनों ही चीजें बहुत महत्वपूर्ण हैं। एकाग्रता की कमी से आप न तो किसी चीज को ठीक से याद कर पाते हैं और न ही सही निर्णय ले पाते हैं। स्कूल-कॉलेज, घर-बाहर, पढ़ाई-लिखाई और नौकरी आदि सभी जगह सफलता पाने के लिए आपकी एकाग्रता शक्ति और आपका आत्मविश्वास बेहतर होना जरूरी है।

 एकाग्रता और याद करने की क्षमता को अक्सर लोग अक्सर ईश्वर प्रदत्त या गॉड गिफ्टेड मान लेते हैं, जबकि कुछ खास योगासनों द्वारा दिमाग में ठीक से रक्त संचार किया जाए, तो ये शक्ति बढ़ाई जा सकती है। आइये आपको बताते हैं ऐसे ही दो आसन जो एकाग्रता और आत्मविश्वास को बढ़ाने में आपकी मदद कर सकते हैं।

पद्मासन


पद्मासन का अभ्यास सभी को नियमित करना चाहिए। ये एक आसान आसन है और इसे कोई भी किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है। ये आसन दिमाग को शांत करता है और मन को भटकने से रोकता है। एकाग्रता के लिए ये आसन बहुत फायदेमंद है। इस आसन से ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है। पद्मासन गर्दन और रीढ़ की हड्डी को मजबूत  और लचीला बनाता है। इसके अलावा इस आसन से पेट की चर्बी कम होती है और तनाव कम होता है।

पद्मासन करने का तरीका

इसे करने के लिए सबसे पहले पैरों को सामने की ओर फैलाकर योगा मैट अथवा ज़मीन पर इस तरह बैठ जाएं कि आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी रहे। अब दाहिने घुटने को मोड़े और बांई जांघ पर रख दें, ध्यान रहे की एड़ी उदर के पास हो और पांव का तलवा ऊपर की ओर हो। अब यही प्रक्रिया दूसरे पैर के साथ दोहराएं। इसके बाद दोनों पैरों को मोड़ें, पांव विपरीत जांघो पर, हाथों को मुद्रा स्थिति में घुटनो पर रखें। ध्यान रखें आपका सिर सीधा और रीढ़ की हड्डी सीधी रहे। अब इसी स्थिति में बने रहकर गहरी सांस लेते रहें।



पूर्वोत्तानासन


आत्मविश्वास किसी भी कार्य में सफलता की सबसे पहली और अनिवार्य शर्त है। अगर आपका आत्मविश्वास ठीक रहता है, तो आप चुस्त और स्वस्थ दिखते हैं। आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए पूर्वोत्तानासन बहुत फायदेमंद आसन है। इस आसन से कंधे तनते हैं और कलाइयों तथा टखनों में मजबूती आती है। इस आसन के नियमित अभ्यास से शरीर के अंगों में भारीपन आता है, जो आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा ये आसन हाथों और पैरों को मजबूत बनाता है, छाती, कंधों और टखनों में खिंचाव लाता है, श्वसन प्रक्रिया में सुधार करता है और थायरॉइड ग्रंथि को उत्तेजित करता है। इसे करना आसान है।

कैसे करें ये आसन

सबसे पहले बैठकर पैर सामने फैला लें। अब हथेलियों को कूल्हों के पास रख लें, जबकि आपकी उंगलियां आगे की ओर संकेत करती रहें। इसके साथ कलाइयों को कंधों की सीध में रखें। अब हथेलियों पर दबाव डालते हुए सीने को ऊपर उठाएं और पैर की उंगलियों को फर्श से टिकी रहने दें। इसी मुद्रा में सांस को अंदर बाहर लें और थोड़ी देर बने रहें।


;