Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

दूर भगाएंगा टेंशन को, अपनाए नौकासन योगा को

KayaWell Icon

आज स्‍कूल जाने वाले बच्‍चों से लेकर बुजुर्ग लोगों तक सभी को किसी न किसी रूप में तनाव का अनुभव होता है। हां तीव्रता अलग हो सकती है लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि तनाव किसी भी रूप में शरीर के लिए काफी खतरनाक होता है। जब तनाव अक्‍सर होने लगता है तो यह चिंता का कारण बन सकता है। इसलिए तनाव के कारणों की पहचान करना और सही समय पर इसे दूर करने के उपाय करना अत्‍यधिक आवश्‍यक होता है। अगर सही समय पर ध्‍यान नहीं दिया गया तो तनाव से न केवल आपको सिरदर्द होता है बल्कि हाई ब्‍लड प्रेशर और अनिद्रा की समस्‍या का कारण भी बन सकता है। इसलिए तनाव को दूर करने के लिए योग आसन सबसे अच्‍छे प्राकृतिक उपायों में से एक है। और सबसे अच्‍छी बात इसके कोई साइड इफेक्‍ट भी नहीं है।


नौकासन पीठ के बल लेट कर किये जाने वाले आसनों में से एक महत्वपूर्ण योगासन है। इस आसन को नौकासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसका आकार नाव की तरह का होता है। इसको नावासन के नाम से भी पुकारा जाता है। हालांकि इस आसन में बहुत ज्‍यादा संतुलन बनाने के कारण, शुरुआत में इसे करना थोड़ा मुश्किल होता है। लेकिन नियमित अभ्‍यास से आप इसे बेहतर तरीके और आसानी से कर सकते हैं। आइए नौकासन करने के तरीके और फायदों के बारे में विस्‍तार से जानकारी लेते हैं।

नौकासन करने की विधि

नौकासन करना बहुत आसान है लेकिन शुरुआती दौर में इसका अभ्‍यास करना जरूरी है। यहां नौकासन करने के सरल तरीके बताये जा रहे हैं।

सबसे पहले आप पीठ के बल लेट जाएं।

अपने हाथ जांघ के बगल और शरीर को एक सीध में रखें।

फिर अपने शरीर को ढीला छोड़े और सांस पर ध्यान दें।

अब आप सांस लेते हुए अपने सिर, पैर, और पूरे शरीर को 30 डिग्री पर उठायें।

ध्यान रहे आपके हाथ ठीक आपके जांघ के ऊपर हों।

धीरे-धीरे सांस लें और धीरे-धीरे सांस छोड़ें, इस अवस्था को अपने हिसाब से बनाये रखें।

जब अपने शरीर को नीचे लाना हो तो लंबी गहरी सांस छोड़ते हुए सतह की ओर आयें।

शुरुआती दौर में 3 से 5 बार करें।

नौकासन की यह विधि तनाव दूर करने के लिए बहुत ही प्रभावी है।

 


नौकासन के अन्य अद्भुत लाभ

नौकासन पेट को मजबूत करने में मदद करता है।

यह पेट की चर्बी कम करने वाला बहुत ही प्रभावशाली योगासन है।

यह हाथों और कंधों को मजबूत करने में मदद करता है।

जांघों और पैरों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है।

यह कब्ज को कम करने में मदद करता है।

नौकासन आपके दिमाग को आराम पहंचाता है।

इसके जितने भी लाभ गिनाये जाए कम हैं। इसलिए हर योग साधक को नियमित रूप से इस योगासन का प्रैक्टिस करना चाहिए।

 

सावधानी:

तनाव से राहत प्रदान करने वाला नौकासन सबसे अच्‍छे योग आसन में से एक है, लेकिन इस आसन को करते समय सतर्क रहने की जरूरत है। जिन लोगों को रीढ़ की हड्डी, सिरदर्द, माइग्रेन और लो ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या हो उन लोगों को इस आसन को करने से बचना चाहिए।

;