Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

High Cholestrol Symptoms and Home Remidies

KayaWell Icon

High Cholesterol

शरीर को ठीक ढंग से काम करने के लिए एक निश्चित कोलेस्ट्रॉल के लेवल की जरुरत होती है। जब कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है तो यह आर्टरी ब्लॉकेज, स्टोक्स और अन्य हृदय की समस्याओं का कारण बनता है। कोलेस्ट्रॉल मोम जैसा एक पदार्थ होता है, जो लीवर से उत्पन्न होता है। यह सभी पशुओं और मनुष्यों के कोशिका झिल्ली समेत शरीर के हर भाग में पाया जाता है। कोलेस्ट्रॉल कोशिका झिल्ली का एक महत्वपूर्ण भाग है, जहां उचित मात्रा में पारगम्यता और तरलता स्थापित करने में इसकी आवश्यकता होती है।

रक्त में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारणों को तीन भागों में बांटा गया है.
– कोलेस्ट्रॉल बढ़ानेवाले आहार यानी वसायुक्त खाद्य पदार्थ का अधिक मात्रा में लगातार सेवन करना.
– मेटाबॉलिक सिस्टम जब एलडीएल की मात्रा को पर्याप्त रूप में रक्त से बाहर नहीं कर पाता, तो रक्त में एलडीएल का स्तर बढ़ जाता है.
– तीसरी स्थिति वह होती है, जब लिवर कोलेस्ट्रॉल को अधिक मात्रा में बनाने लगता है.
उपरोक्त कारणों को यदि नियंत्रण में रखा जाए, तो हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी.
जहां तक लक्षणों की बात है, तो थकान, कमज़ोरी, सांस लेने में तकलीफ़, अधिक पसीना आना, सीने में दर्द, बेचैनी-सी महसूस होना आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं.
अस्वस्थ खानपान
सैचुरेटेड फैट का ज्‍यादा इस्‍तेमाल कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का अहम कारण होता है। रेड मीट, मक्खन, पनीर, केक और घी आदि में सैचुरेटेड फैट ज्‍यादा होता है। कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा न बढ़ें इसके लिए इस प्रकार के आहार के सेवन से परहेज करना चाहिए।
आनुवंशिक कारण
हाई कोलेस्ट्रॉल के लिए आनुवंशिक कारण भी जिम्‍मेदार होते हैं। आनुवंशिक कारणों से कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर कई बार समय पूर्व ब्लॉकेज और स्ट्रोक की समस्‍या हो सकती है। आपके परिवार में किसी को हाई कोलेस्‍ट्रॉल की समस्‍या होने पर आप भी इस समस्‍या से ग्रस्‍त हो सकते हैं।
ज्‍यादा वजन
शरीर का ज्‍यादा वजन हाई कोलेस्ट्रॉल के खतरे को बढ़ा देता है। वजन ज्‍यादा होने से ट्राइग्लिसराइड्स बढ़ जाता है, जो भविष्‍य में ब्लॉकेज का कारण हो सकता है। हाई कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचे रहने के लिए वजन नियंत्रित रखना जरूरी है।
धूम्रपान और शराब का सेवन
धूम्रपान और शराब के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्‍तर बढ़ता है। साथ ही शराब का सेवन लीवर और हार्ट की मांसपेशियों के लिए भी नुकसानदायक होता है, जो कि कई बार हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन जाता है।
उम्र और लिंग
जानकारों के मुताबिक 20 साल की उम्र के बाद कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल बढ़ना शुरू हो जाता है। यह स्‍तर 60 से 65 वर्ष की उम्र तक महिलाओं और पुरुषों में समान रूप से बढ़ता है। मासिक धर्म शुरू होने से पहले महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल का स्‍तर कम रहता है। मासिक धर्म के बाद पुरुषों की तुलना में महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल का लेवल अधिक रहता है।

http://www.onlymyhealth.com/health-slideshow/seven-causes-of-high-cholesterol-in-hindi-1378887889.html

https://hindi.boldsky.com/health/wellness/2013/top-10-causes-of-high-cholesterol/articlecontent-pf3581-003097.html

High Cholesterol

Comments