Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   News

गुणों से भरपूर गेहूं

KayaWell Icon
KayaWell Expert

गेहूं को हम चाह कर भी नजरअंदाज नहीं कर सकते। पूरे भारत में मक्‍का के बाद गेहूं ही एक ऐसी फसल है जो पूरे भारत में उगाई जाती है। धान का स्‍थान गेहूं के ठीक बाद तीसरे स्‍थान पर है। गेहूं से रोटी, कुकीज, केक,दलिया और रोटी आदि बनाते हैं। एक्‍सपर्ट के अनुसार गेहूं मैदे के मुकाबले ज्‍यादा स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक माना जाता है।

गेहूं पेट के लिये बहुत हल्‍का होता है और आसानी से पचाया जा सकता है। आज की जनरेशन ने रोटी छोड़ कर मैदे से बने पीजा और बर्गर खाने शुरु कर दिये हैं, जिससे कई सारी स्‍वास्‍थ्‍य संबन्‍धी समस्‍याएं पैदा हो गई हैं।

कई लोग अंकुरित गेहूं का भी सेवन करते हैं क्‍योंकि इसमें बहुत सरा फाइबर पाया जाता है जो कि पेट के लिये अच्‍छा होता है। अंकुरित गेहूं खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ता है। यह शरीर में बनने वाले विषैले तत्वों को भी निष्प्रभावी कर, रक्त को शुद्घ करता है। आइये और जानते हैं गेहूं खाने के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में-

खून को साफ करे:-

अगर खून को साफ करना है तो गेहूं को नियमित खाने में शामिल करें। 


वजन घटाए:-

जो लोग वजन घटाना चाहते हैं उन्‍हें भी अपनी डाइट में मैदा छोड़ कर गेहूं खाना चाहिये। पाचन क्रिया सही रखे गेहूं काफी हल्‍की होती है और इसे खाने के बाद इसको आसानी से पचाया जा सकता है।


दिल के लिये:-

जो लोग दिल की बीमारी से पीडित हैं, वे अगर गेहूं खाएं तो उनका दिल मजबूत बनेगा। 


कैंसर से बचाए:-

गेहूं में विटामिन ई, सीलियम और रेशे पाए जाते हैं जो कि कैंसर की सेल को पनपने से रोकते हैं। 


ब्‍लड प्रेशर के लिये:-

अगर आपको हाई ब्‍लड प्रेशर है तो आपको मैदा नहीं बल्‍कि गेहूं का आटा खाना चाहिये। इसेस हाई बीपी की समस्‍या एकदम कंट्रोल में रहती है।


थायराइड रोगियों के लिये:- 

बहुत से लोगों को हाइपर और हाइपो थायराइड की बीमारी होती है। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो आपको भी गेहूं अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिये। 


सांस की बदबू:-

सांस की बदबू आने का एक कारण यह भी होता है कि आप खाना सही नहीं खा रहे हैं। अगर आप गेहूं खाएंगे तो आपके मुंह के अंदर विटामिन और अन्‍य प्रकार के तत्‍व निकलेगें जिससे सांस की बदबू नहीं आएगी। 


हड्डी का दर्द और सूजन:-

अगर आपको भी हड्डी में सूजन या दर्द रहता है तो आपको रोटी या फिर गेहूं की ब्रेड खानी शुरु कर देनी चाहिये। 


मधुमेह रोगियों के लिये:-

आप क्‍या खा रहे हैं उसका ध्‍यान आपको रहना चाहिये। यह बहुत जरुरी है कि आप अपनी डाइट में गेहूं की बने पदार्थ ही शामिल करें। 


कब्‍ज की समस्‍या:-

अगर कब्‍ज है तो गेहूं खाएं क्‍योकि इसमें फाइबर बहुत जादा होता है। इससे पेट की समस्‍या गायब हो जाएगी।

 

किडनी समस्‍या:-

अगर आप 30 की उम्र पार कर चुके हैं तो, किडनी की समस्‍या हो सकती है। गेहूं स्‍टोन को गला सकता है।


एनीमिया:-

गेहूं से ब्‍लड सेल्‍स बनती हैं इसलिये अगर आप यह खाएंगे तो आपकी अंदर ब्‍लड सेल्‍स बनेंगी और एनीमिया दूर हो जाएगा। 


प्रोटीन से भरपूर:-

गेहूं में बहुत सारा प्रोटीन होता है जो कि पूरे शरीर के लिये अच्‍छा होता है। अच्‍छा होगा कि मैदा छोड़ कर गेहूं खाना शुरु कर दें।

Anemia
Cancer
Constipation
Diabetes: Type II
Heart Disease
High Blood Pressure
Kidney Stones
Thyroid Problem (Signs and Symptoms)
Diet/weight Loss

Comments

Popular Lab Test Packages

KayaWell Icon