Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   News   Jobs   Blog

पेट के रोगों के लिए रामबाण हैं, दूध में देशी घी डालकर पीना

KayaWell Icon
KayaWell Expert

एक नवीनतम सर्वेक्षण के अनुसार, वर्तमान में लगभग 22 प्रतिशत भारतीय कब्ज से पीड़ित हैं। कब्ज एक ऐसी स्थिति है जो मल को बाहर निकालने में कठिनाई पैदा करती है। कब्ज देश भर के कई लोगों द्वारा सामना की जाने वाली सबसे आम बीमारियों में से एक है, फिर भी इसके बारे में सबसे कम बात की जाती है। चूंकि मल और बाउल मूवमेंट के बारे में बात करना सामाजिक और अंतरंग सभाओं में काफी प्रोत्साहित नहीं किया जाता है, इस मुद्दे के बारे में जागरूकता की भी कमी है। पुरानी कब्ज से बवासीर और गुदा विदर भी हो सकता है। कब्‍ज पेट के समस्‍त रोगों की जड़ है। हालांकि, हल्के कब्ज का इलाज मुट्ठी भर दवाओं और प्राकृतिक घरेलू उपचार के साथ किया जा सकता है। 

आयुर्वेद में इस रोग के लिए देसी घी को सर्वोत्‍तम औ‍षधि मानी गई है। गाय का घी एंटीऑक्सिडेंट से भरा है। इसके अलावा इसमें एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं। महत्वपूर्ण पोषक तत्वों और फैटी एसिड के साथ भरी हुई घी भी एक सुपरफूड माना जाता है। दूध के साथ सेवन करने पर घी सबसे अधिक फायदेमंद माना जाता है। आपको यह सुनकर अजीब लग रहा होगा मगर यही सच है। प्राचीन समय में, घी के साथ दूध आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा लेने की सलाह दी जाती थी। इसे राजा और योद्धा शारीरिक शक्ति के लिए क्या खाते थे।

पाचन शक्ति को मजबूत करता है:-

दूध में घी डालकर पीने से शरीर के अंदर पाचन एंजाइमों के स्राव को उत्तेजित करके पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। ये एंजाइम जटिल खाद्य पदार्थों को सरल खाद्य पदार्थों में तोड़ते हैं, जिससे जल्दी और बेहतर पाचन में मदद मिलती है। यदि आपको कब्ज है या पाचन तंत्र कमजोर है, तो आप नियमित रूप से इस खाद्य का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :- अचानक से पेट में क्‍यूं बढ़ जाती है एसिड की मात्रा 

मेटाबॉलिज्‍म को इंप्रूव करता है:-

दूध और घी का अद्भुत संयोजन चयापचय को बेहतर बनाने और आपके शरीर को ऊर्जा और शक्ति प्रदान करने में मदद कर सकता है। यह उत्सर्जन के माध्यम से शरीर से सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थों को निकालकर प्रणाली को detoxify भी करता है।

जोड़ों के दर्द के लिए है लाभकारी:- 

अगर आप जोड़ों के दर्द से पीड़ित हैं और इससे जल्द छुटकारा पाना चाहते हैं, तो आपको घी और दूध का एक साथ सेवन करना चाहिए। घी जोड़ों में सूजन को कम करने में मदद करता है और दूसरी ओर दूध हड्डियों को मजबूत करता है। तो, अगली बार जब आप जोड़ों के मुद्दों का सामना कर रहे हैं, तो बस एक गिलास दूध में एक चम्मच घी मिलाएं और इसे कुछ दिनों तक पीएं।

स्‍टेमिना बढ़ाता है:- 

यदि आप लगातार अधिक काम के कारण थका हुआ महसूस करते हैं, तो आपको इस पेय का सेवन करना चाहिए। यह आपको कठोर शारीरिक गतिविधियों को करने के लिए बहुत सहनशक्ति और शक्ति प्रदान करता है। आपने अक्सर सुना होगा कि पहलवान एक बैल की तरह मजबूत बनने के लिए घी और दूध का सेवन करते हैं।

यह भी पढ़ें :- पेट दर्द से लेकर, अस्थमा तक कई बीमारियों में फायदेमंद है पीपल

नींद अच्‍छी दिलाए:-  

दूध में एक चम्‍मच गाय का देशी घी मिलाकर सोने से पहले पीएं। अच्‍छी और सुकून भरी नींद आएगी। अगर आप नींद न आने की समस्‍या से परेशान हैं तो यह औषधि आपके लिए बहुत अच्‍छी है। इसका नियमित सेवन करने से आपको ढ़ेर सारे लाभ मिलेंगे।

Constipation
Digestive and Intestinal
Hemorrhoids Piles
Joint Pain
Metabolism (Increase)
Metabolism and Nutrition
Muscle
Bone and Joint
Sleep Disorders
Stomach Flu
Chronic Pain
Sleep Disturbance

Comments

Popular Lab Test Packages

KayaWell Icon