Home   Wellness Plan   Events  Health Tips   Jobs   Blog

कई रोगों का काल है करेला थेपला, घर में बनाकर करें सेवन

KayaWell Icon

कई चीजें ऐसी होती हैं जो घर में बच्चों के साथ साथ अन्य लोगों को भी पसंद नहीं होती हैं। जबकि इनमें से कुछ चीजें हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होती हैं। इनमें से एक है करेला। जी हां, करेला स्वाद में कड़वा जरूर होता है। लेकिन जो इस अमृत को जान गया वह जीवन में कभी बीमार नहीं पड़ सकता है। करेला एक चिकित्स्कीय औषधि है जिसका बहुत सी दवाइयों में इस्तेमाल किया जाता है| हालांकि यह टेस्ट में कड़वा और आंखों को नहीं सुहाता है लेकिन रोजाना करेले का किसी ना किसी रूप में सेवन करने से बहुत सी स्वास्थ्य की समस्याएं दूर होती हैं। आज हम आपको करेले के थेपले बनाना सिखा रहे हैं। इन्हें बनाना बहुत ही आसान है। अगर आप टेस्टी टच देकर इन्हें बनाएंगे तो आपके घर में सभी इन्हें खूब पसंद करेंगे। आइए जानत हैं कैसे बनाते हैं करेला थेपला—

कई चीजें ऐसी होती हैं जो घर में बच्चों के साथ साथ अन्य लोगों को भी पसंद नहीं होती हैं। जबकि इनमें से कुछ चीजें हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होती हैं। इनमें से एक है करेला। जी हां, करेला स्वाद में कड़वा जरूर होता है। लेकिन जो इस अमृत को जान गया वह जीवन में कभी बीमार नहीं पड़ सकता है। करेला एक चिकित्स्कीय औषधि है जिसका बहुत सी दवाइयों में इस्तेमाल किया जाता है| हालांकि यह टेस्ट में कड़वा और आंखों को नहीं सुहाता है लेकिन रोजाना करेले का किसी ना किसी रूप में सेवन करने से बहुत सी स्वास्थ्य की समस्याएं दूर होती हैं। आज हम आपको करेले के थेपले बनाना सिखा रहे हैं। इन्हें बनाना बहुत ही आसान है। अगर आप टेस्टी टच देकर इन्हें बनाएंगे तो आपके घर में सभी इन्हें खूब पसंद करेंगे। आइए जानत हैं कैसे बनाते हैं करेला थेपला—

सामग्री

2 चम्मच आॅयल- थेपलों पर लगाने के लिए

करेले का छिलका बारीक कटा हुआ

1 चम्मच लहसुन बारीक पिसा हुआ

स्वादानुसार चम्मच हल्दी पाउडर

स्वदानुसार मिर्च पाउडर

1 चम्मच हरा धनिया पाउडर

1 चममच धनिया बारीक कटा हुआ

नमक स्वादानुसार


बनाने की विधि

सभी सामग्रियों को सूखे आटे और पानी के साथ अच्छी तरह गूंध लें। अब आटे को 10 बराबर हिस्सों में बांटेें, इच्दानुसार चौड़ाई के हिसाब से इन्हें गोल आकार में बेलें। इन थेपलों को दोनों तरफ से नाॅन स्टिक तंवे पर सेंकें। इन्हें ब्राउन होने तक सेकते रहें। अब इन थेपलों पर हल्का हल्का कुकिंग आॅयल लगाएं और गर्मागर्म परोसें।


करेले के फायदे

करेले में जरूरी विटामिन्स और एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं जिनकी शरीर को सख्त जरूरत होती है। इसके सेवन से शुगर को नियंत्रित किया जा सकता है। करेले में मौजूद मोमर्सिडीन और चैराटिन जैसे एंटी-हाइपर ग्लेसेमिक तत्वों के कारण यह ब्लड शुगर लेवल को मांसपेशियों में संचारित करने में मदद करता है। इसके बीजों में भी पॉलीपेप्टाइड-पी होता है जो कि इन्सुलिन को काम में लेकर डायबेटिक्स में शुगर लेवल को कम करता है। अगर आप करेले की सब्जी या जूस नहीं पी सकते हैं को इसके थेपले आपके लिए अच्छा विकल्प है।

Diabetes: Type I
Diabetes: Type II

Comments