चेहरे पर चमक लाने के साथ ही स्टेमिना भी बढ़ाते हैं ये 5 योगासन

KayaWell Icon

Men's Health
Sagging Skin
Wrinkles
Yoga

आजकल लोग चेहरे की चमक के लिए न जाने कितने महंगे महंगे प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। जबकि चेहरे की चमक और लालिमा को हम अच्छी डाइट और योग से भी पा सकते हैं। खूबसूरत चेहरे की चाह भला किसको नहीं होती, हर कोई चाहता हैं कि उसका चेहरा खूबसूरत लगें। इसके लिए आप तरह-तरह के जतन भी करते हैं। लेकिन चेहरे पर निखार लाने के लिए योग का सहारा लेना सबसे फायदेमंद होता है। योग की कुछ क्रियाओं से चेहरे पर लालिमा आती है तथा धब्बे, झाइयां, झुर्रियां और कालापन दूर किया जा सकता है। आज हम आपको सुंदर चेहरे के लिए खास योगासन बता रहे हैं।

चेहरे के लिए योग

चेहरे में लालिमा बनाए रखने के लिए उदान मुद्रा योग बहुत ही फायदेमंद होता है। इसको करने क‍े लिए पद्मासन में बैठ जाये और फिर अपने दोनों हाथों की तजर्नी अंगुली को छोड़कर बाकि तीनों अंगुलियों को अंगूठे के टिप से आपस में मिलाइए। इस अभ्‍यास को नियमित रूप से पांच मिनट तक करें, फायदा होगा।


चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए सिंगासन बहुत ही अच्‍छा आसान है। इसको करने के लिए वज्रासन में बैठकर घुटनों को थोड़ा सा खोल लें, अब हाथों की अंगुलियों को शेर के पंजे के समान खोलकर दोनों घुटनों पर रखें। इसके बाद सांस को अन्‍दर खींचकर जीभ बाहर निकालें और फिर सांस छोड़ते हुए शेर जैसी गजर्ना करें। गले की मांसपेशियों में तनाव लाएं। इस आसन का अभ्यास 3-4 बार कर सकते हैं। इस योग को करते समय मुंह ज्यादा से ज्यादा खुला और जीभ अधिक से अधिक बाहर निकली होनी चाहिये।


गहरी सांस लें और मुंह में इतनी हवा भरें जैसे गुब्‍बारा फुलाने के लिए हवा भरते हैं। पांच सेकंड के लिए इसी मुद्रा में रहें। गुब्बारा फुलाने वाली इस योग को करने से न सिर्फ चेहरे बल्कि फेफड़ों की भी अच्छी एक्सरसाइज होती है। इससे गालों की झुर्रियां दूर होती है और चेहरे की त्वचा का कसाव बना रहता है। इस योग को पांच से आठ बार दोहराएं।


कपोल शक्ति विकासक योग चेहरे प‍र निखार लाने के लिए बहुत अच्‍छा योगासन है। इसके लिए सुखासन या फिर पद्मासन में बैठ जाएं। दोनों हाथों की आठों अंगुलियों के आगे के भाग को आपस में मिलाकर दोनों अंगूठे से दोनों नाकों के छिद्रों को बंद कर लें। फिर सांस अंदर खींचे। फिर दोनों अंगूठों से नाक के छिद्रों को बन्द कर लें और अपने गालों को गुब्बारे की तरह फुलाएं और अपनी क्षमता अनुसार सांस रोककर धीरे-धीरे सांसों को बाहर निकालें। यह अभ्यास कम से कम 20 बार करें।


हास्‍यासन करने से चेहरा गुलाव की तरह खिल जाता है। खूब जोर से हंसने को हास्‍यासन कहते हैं। हंसने के दौरान शरीर की सभी 600 मांसपेशियों की कसरत एक साथ होती है। ठहाका लगाकर हंसने से फेफड़ों में ज्यादा ऑक्सीजन जाती है, रक्त शुद्ध होता है। इस योग को करने के लिए इतना हंसिये कि आंखों से आंसू आ जाए।

;