शुगर की बीमारी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

KayaWell Icon
शुगर की बीमारी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं
452 Views
शुगर खत्म करने का उपाय, शुगर में सुबह क्या खाना चाहिए
KayaWell Expert
  • ब्लड प्रेशर व डायबिटीज ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति और महिला का जीवन पूरी तरह से बदल देती है। शुगर का रोग होने पर शरीर में इंसुलिन की कमी हो जाती है। Type 1 और 2 शुगर कंट्रोल करने व इसका ट्रीटमेंट करने के लिए कुछ लोग अंग्रेजी दवा लेते है पर आप शुगर की आयुर्वेदिक दवा, देसी उपाय और घरेलू नुस्खे  से घर पर भी इलाज कर सकते है। मधुमेह कम करने के उपचार के साथ साथ इस बात की जानकारी होना जरुरी है की  शुगर में क्या खाएं और क्या न खाए l

शुगर जिसे मधुमेह के नाम से भी जाना जाता है, आमतौर पर ख़राब लाइफस्टाइल के कारण होने वाली बीमारी है। अगर आपकी जीवन शैली सही नहीं है, खान पान स्वास्थ्यकर नहीं है और व्यायाम इत्यादि की कमी है तो आपको शुगर होने की सम्भावना बढ़ जाती है। इसलिए सबसे पहले तो हमें खान पान की आदतों और शारीरिक श्रम आदि का ध्यान रखना जरुरी है। 



 

    डायबिटीज होने पर क्या करे

    अगर आप भी शुगर से परेशान हैं  तो अपने आस-पास के एक अच्छे हेल्थ एक्सपर्ट से इसकी जॉच करवाएं, इसके  लिए आपको एक अच्छे एक्सपर्ट को तलाशने की जरुरत होगी, लेकिन अब आपको परेशान होने की बिलकुल  जरूरत नहीं हैं, क्योंकि आपकी इस समस्या का हल भी आपको ऑनलाइन ही मिल जायेगा | यहाँ पर आपको आपके क्षेत्र के अनुसार एक अच्छे एक्सपर्ट की लिस्ट मिल जाएगी CLICK HERE l जिनसे आप ऑनलाइन या ऑफलाइन बातचीत कर सकते हैं l



    • मधुमेह के कारण

    • 1. डायबिटीज में हमेशा समय पर खाना खाये और बार बार खाना खाने की बजाय एक ही बार अच्छे से भोजन करे।

      2. मिठाइयां ना खाएं और अगर मिठाई खाने की इच्छा हो तो बिना शुगर की मिठाई खाये और वह भी ज्यादा न खाएं।
      3. मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को ज्यादा देर तक भूखा नहीं रहना चाहिए व उपवास भी नहीं रखना चाहिए।
      4. भोजन करने से पूर्व थोड़ा सलाद खाए व खाना हमेशा धीरे धीरे और चबा चबा कर खाये।
      5. शराब बियर व अन्य किसी भी प्रकार के नशे से दूर रहे।
      6. जो लोग जंक फ़ूड ज्यादा खाते है उनमें शुगर होने की सम्भावना ज्यादा होती है। इसका कारण ये है की खाने की ऐसी चीजों में fat अधिक होता है जिससे शरीर में जरुरत से ज्यादा कैलोरी बढ़ जाती है और मोटापा बढ़ने लगता है, शरीर में प्रयाप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता और शुगर का लेवल बढ़ने लगता है।
      7. डायबिटीज एक अनुवांशिक रोग भी है मतलब अगर परिवार में माता पिता को मधुमेह है तो उनके बच्चों को भी ये रोग होने की संभावना अधिक होती है।
      8. मोटापा और जरुरत से ज्यादा वजन वाले लोगों को डायबिटीज होने का खतरा अधिक होता है।
      9. शारीरिक श्रम ना करना भी में से एक है। कुछ लोगों की दिनचर्या ऐसी होती है की वे एक जगह बैठ कर काम करते है और ना ही व्यायाम के लिए समय निकालते है।
    • 10. हर समय तनाव में रहना या फिर डिप्रेशन से प्रभावित होना।
      11. धूम्रपान, तंबाकू या कोई दूसरा नशा करने से भी शुगर हो सकती है।
      12. दवाइयों का ज्यादा सेवन करना भी हो सकता है। अक्सर कोई रोग होने पर हम बिना डॉक्टर की सलाह के दवा लेने लगते है। कोई भी अंग्रेजी दवा बिना सलाह के लंबे समय तक खाना भी नुकसान कर सकता है।
      13. ज्यादा चाय, कोल्ड ड्रिंक्स, मीठा और चीनी का सेवन करना।


      मधुमेह के लक्षण

      शुगर के अनेक लक्षण है जिनमें से प्रमुख लक्षण यहां बताये जा रहे है। अगर किसी भी व्यक्ति को इनमें से ज्यादातर सिम्पटम्स दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर के पास जा कर टेस्ट करवाये।

      • ज्यादा भूख लगना

      • किडनी ख़राब होना

      • पेशाब बार बार आना

      • पानी की प्यास ज्यादा लगना

      • आँखों की रौशनी कम लगना

      • रोगी के वजन में गिरावट आना

      • शरीर में कमजोरी महसूस करना

      • चोट और जख्म जल्दी ठीक ना होना

      • हाथों पैरों और गुप्तांग पर खुजली वाले जख्म होना

      • स्किन इंफेक्शन होना और बार बार त्वचा पर फोड़े फुंसी निकलना

    शुगर (डायबिटीज) से जुड़े सभी सवालों के जवाब

    लेकिन अगर आप शुगर की बीमारी से ग्रसित हैं तो कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना है, इस लेख में जानिए आपके उन सभी सवालों (sugar me kya khana chahiye) के जवाब जो डायबिटीज से जुड़े हैं और जानेंगे शुगर खत्म करने का उपाय:-


    1) शुगर में सुबह क्या खाना चाहिए?

    डायबिटीज में कुछ भी खाने से पहले और बाद में शुगर लेवल चेक करना चाहिए क्योंकि कुछ चीज़ें अचानक से आपका शुगर लेवल बढ़ा सकती है।आइये जानते हैं क्या है वो चीज़ें जिनका सेवन आपको खाली पेट करना चाहिए और क्या हैं उनके लाभ। इन चीज़ों का सेवन आपको स्वस्थ तो रखेगा ही, साथ में शुगर को भी कंट्रोल रखेगा। 

    • जामुन या जामुन का रस- इंसुलिन उत्पादन को बढ़ाता है और मेटाबोलिज्म तेज करता है। इससे शुगर लेवल नियंत्रण में रहता है

    • पपीता- फाइबर से भरपूर होने कारण पेट साफ़ करता है।

    • अंकुरित मेथी दाने- मेथी दानों को अंकुरित करके खाने से विशेष लाभ मिलता है। इसको सलाद के रूप में या आप सुबह के नाश्ते में डालकर खा सकते हैं, इससे कब्ज़ में भी राहत मिलेगी और शुगर भी कण्ट्रोल में रहेगी।  

    • दाल चीनी की चाय- पॉलिफेनोलिक्स नामक तत्व पाया जाता है जो फास्टिंग शुगर को नियंत्रित रखता है।

    • कढ़ी पत्ता- इन्सुलिन एक्टिवेट करता है जिससे शुगर के पाचन में आसानी होती है। इसे मीठी नीम के नाम से भी जाना जाता है। 

    2) शुगर को जड़ से खत्म करने के लिए क्या खाना चाहिए?

    शुगर को जड़ से ख़त्म करने के लिए, इन नियमित एक्सरसाइज के साथ साथ इन उपायों को आजमायें, निश्चित ही आपका शुगर लेवल नियंत्रण में रहेगा। 

    • योग व प्राणायाम बेहद जरुरी है। कपालभाती, अनुलोम विलोम दस से पंद्रह मिनट अवश्य करें। इसके साथ ही जॉगिंग प्रतिदिन करें। मोटापा न बढ़ने दें।

    • जड़ से ख़त्म करने के लिए मीठे फलों का सेवन बंद कर दें। इसके स्थान पर पपीता, अमरुद, जामुन का सेवन करें। 

    • शुगर को जड़ से ख़त्म करने के लिए अंकुरित मेथी दानों का प्रयोग बहुत प्रभावशाली है। 

    • करेले, खीरा और टमाटर के साथ, सदाबहार के  सात फूल और सात नीम के पत्ते मिलाकर जूस निकालकर सेवन करें। 

    • जामुन की गुठली, चिरायता और कालमेघ को रात में भिगोकर सुबह खाली पेट इसके पानी का  सेवन करें।  

    3) शुगर की बीमारी में क्या परहेज करना चाहिए?

    शुगर के इलाज में सबसे अधिक जिन बातों का ध्यान रखना है, वो है आपकी लाइफस्टाइल यानि की आपकी दैनिक दिनचर्या क्योंकि मधुमेह एक लाइफस्टाइल डिजीज है जो गलत खान पान की आदतों और एक्सरसाइज के कमी से होता है। इसलिए खाने में विशेष परहेज़ रखना होता है, आइये जानते हैं :-

    • भोजन करने का एक निश्चित समय रखें और भूखे ना रहें। 

    • मीठे उत्पादों जैसे मिठाई, मीठे फल, मीठी चाय आदि को बिलकुल छोड़ दें। अगर खाना भी पड़े तो कम मात्रा में ही खाएं।

    • व्रत, उपवास आदि से परहेज करें। 

    • खाने में सलाद का प्रयोग जरुर करें।

    • शराब व अन्य किसी भी प्रकार के नशे को तुरंत बाय बाय कर दें।

    • जंक फ़ूड, डिब्बा बंद प्रोडक्ट्स ये सभी अधिक कैलोरी से युक्त होते हैं जो शरीर में इन्सुलिन को घटाकर शुगर लेवल में वृद्धि कर देता है अतः इनसे यथासंभव बचें।

    • बिना डॉक्टर के सलाह पर दवाइयों का सेवन, लगातार अंग्रेजी दवाइयां लेना आदि भी शुगर को अनियंत्रित कर देते हैं। इसलिए लम्बी दवाई के लिए डॉक्टर की सलाह लेवें।

    4) शुगर में गुड़ खा सकते हैं क्या?

    नहीं, क्योंकि गुड़ का उत्पादन गन्ने से होता है, जो शर्करा का एक प्रचुर स्त्रोत है। गुड़ का सेवन मधुमेह रोगियों के लिए नुकसानदेह हो सकता है। हालाँकि गुड़ चीनी के मुकाबले कई बीमारियों में काम लिया जाता है लेकिन शुगर रोगियों के लिए इसका सेवन फायदेमंद नहीं हैं।   

    5) शुगर के मरीज को ताकत के लिए क्या खाना चाहिए?

    डायबिटिज व्यक्ति को शारीरिक रूप से थोड़ा कमजोर कर देती है, लेकिन खाने पे ध्यान दिया जाए, पोषक तत्वों को शामिल किया जाए और पर्याप्त व्यायाम किया जाए तो ऐसी कोई समस्या नहीं आती। फिर आइये बताते हैं, कुछ चीज़ों के बारे में जो आपको ताकत प्रदान करेगी- 

    • दही का सेवन शरीर को  कैल्सियम, प्रोटीन और विटामिन डी का पोषण प्रदान करता है और टाइप 2 डायबिटीज, कोलेस्ट्रोल से बचाता है। 

    • हरी सब्जियां जैसे पालक, बथुआ, मेथी, तुरई आदि शुगर रोगियों के लिए फायदेमंद है। 

    • अलसी के बीजों को रोस्ट करके (कड़ाही में भूनकर) खाना चाहिए। ये ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर है और पाचन को दुरुस्त करता है।

    6) शुगर के मरीज को कितना पानी पीना चाहिए?

    मधुमेह रोगियों को अधिक पानी का सेवन करना चाहिए, क्योंकि शुगर रोगियों में अधिक कैलोरी होती है, जिसके कारण पानी आवश्यकता भी अधिक होती है। पर्याप्त पानी पीने से ब्लड शुगर नियंत्रण में रहती है। आपको एक दिन में लगभग 10 से 12 गिलास पानी पीना ही चाहिए। 

    7) शुगर में नींबू पानी पी सकते हैं क्या?

    जी हाँ, नीबूं ब्लड शुगर लेवल को कम करता है। इसलिए कोल्ड्रिंक्स, मीठे पेय पदार्थ के स्थान पर आप लिक्विड के रूप में नीबू पानी ले सकते हैं। 

    8) 40 साल की उम्र में शुगर कितना होना चाहिए?

    एक निश्चित उम्र के बाद शरीर के शुगर लेवल में बदलाव आता है। अगर व्यक्ति की उपर 40 या उससे पार है, तो खाली पेट शुगर 90 से 130 mg/dL, सुबह भोजन के बाद 140 mg/dl से कम और शाम के खाने के बाद 150 mg/dl से नीचे का शुगर लेवल सामान्य माना जाता है। 

    9) कम से कम शुगर कितनी होनी चाहिए?

    यूं तो उम्र के अनुसार शुगर का सामान्य लेवल अलग अलग हो जाता है। फिर भी अगर आप खाली पेट हैं तो आपका ब्लड शुगर लेवल 70-100 mg/dl के बीच होना चाहिए, लेकिन अगर ये स्तर 100-126 mg/dl हो तो ये डायबिटीज के पूर्व के लक्षण हैं, आपको सतर्कता बरतनी चाहिए। अगर शुगर लेवल 130 mg/dl से ज्यादा पर पहुंच जाता है तो आपको डॉक्टरी सलाह की आवश्यकता है।

    10) शुगर कम होने से क्या नुकसान होता है?

    अगर ब्लड शुगर लेवल 70 mg/dL से नीचे चला जाए तो इसे लो शुगर लेवल माना जाता है। कमजोरी महसूस होती है और लक्षणों को अनदेखा कर दिया जाए तो दौरा भी आ सकता है। लो ब्लड शुगर का इलाज समय पर ना मिल पाए तो मरीज कोमा जैसे स्थिति में जा सकता है। इसलिए शुगर रोगियों को नियमित शुगर जांच अवश्य करनी चाहिए।

    11) शुगर लेवल कम होने के लक्षण क्या है?

    • लगातर तेज सिरदर्द होने लगता है।

    • शरीर में कम्पन, कमजोरी, चक्कर आना, तेज भूख लगना, चिड़चिड़ापन आदि भी इसी के लो शुगर लेवल के लक्षण हैं। 

    • दिल की धड़कन अचानक तेज होने लगती है।

    • त्वचा में पीलापन, पसीना आना और अचानक कमजोरी आने लगे तो तुरतं डॉक्टर को दिखाएँ।  

    12) खाली पेट शुगर ज्यादा क्यों आती है?

    जब आप रात को सोकर जागते हैं तो रात भर कुछ हार्मोनों के नियंत्रण के कारण इन्सुलिन उत्पादन अधिक होता है जिससे सुबह शुगर लेवल अधिक आ सकता है। हालांकि टाइप 2 डायबिटीज के रोगियों में अधिक शुगर लेवल आने की संभावना अधिक रहती है। 



      Diabetes: Type I
      Diabetes: Type II

      Comments